28.9 C
Munich

खरसिया से वादे करके बना भगोड़ा, अब रायगढ़ के सपने कैसे करेगा पूरा: प्रकाश नायक

Must read

बड़ा आदमी होता है दुर्गभ आपका प्रकाश है सदैव सुलभ

रायगढ़ 16 नवंबर 2023
विधानसभा चुनाव में अब डोर-टू-डोर जनसंपर्क अभियान जारी है इसके बाद भी विधायक प्रकाश नायक के घर उनके सर्मथकों और आम जन की भीड़ आ रही है। प्रकाश सभी की बाते सुन रहे हैं। लोग अपना सर्मथन जता रहे है और प्रकाश सभी से आशीष ले रहे हैं। विदित हो कि नायक परिवार बीते 43 साल से रायगढ़ की जनता की सेवा करता आ रहा है। दूसरी पीढ़ी के प्रकाश नायक 2018 में विधायक बने और जन-जन के चेहेते बने हैं। उनके घर जो भी आता है फिर वह किसी भी दल या समाज का हो मायूस होकर नहीं जाता। वह अपने पिता की विरासत को बखूबी आगे बढ़ा रहे हैं।
चुनाव से ऐन वक्त प्रकाश ने चुप्पी तोड़ते हुए भारतीय जनता पार्टी और रायगढ़ के प्रत्याशी ओपी चौधरी पर जुबानी हमला तेज कर दिया है। प्रेस विज्ञप्ति जारी कर प्रकाश नायक ने एक बार फिर से ओपी चौधरी के भगोड़े होने को टारगेट करते हुए कहा कि जो अपनी माटी का नहीं हुआ वह लोगों का कैसे होगा। खरसिया के लोगों को सपने दिखाकर जो बना भगोड़ा अब वह रायगढ़ के सपनों को कैसे करेगा पूरा। लोगों को विकास के सब्जबाग दिखाकर वोट मांगे जा रहे हैं। भाजपा के 15 साल पर कांग्रेस के विकास के 5 साल भारी हैं। कांग्रेस विकास की राजनीति करती है जबकि भाजपा विध्वंस की राजनीति पर भरोसा करती है। हमारे कार्यकर्ताओं को डराया धमकाया जा रहा है, संभव है कहर की संगति का असर हो। मुझे बदनाम करने कि लिए मेरी छवि को गुंडा जैसा बनाकर भाजपाई प्रसारित कर रहे हैं जबकि मेरे कार्यकाल में गुंडागर्दी रायगढ़ विधानसभा से खत्म हुई। भाजपाई गुंडों की आतताईयों को मेरे मत्थे मढ़ने की कोशिश हुई। मैंने अपने पद का कभी दुरूपयोग नहीं किया न ही विधायकी का धौंस दिखाया। खुद अपने पुत्र का सरेंडर करवाया। कानून-व्यवस्था पर मेरा भरोसा और वह सभी के लिए एक समान है। पर भाजपाई खुद को सबसे ऊपर मानते हैं।

पैसों के घमंड ने भाजपाईयों को अंधा कर दिया है। वह पानी की तरह पैसा बहाकर सोच रहे हैं कि मेरे मतदाताओं को वह छल लेंगे। मतदाता खामोशी सब देख रहा होता है और अपने मतदान का सही प्रयोग करता है। ढींगे हांकने से अगर चुनाव जीते जाते तो कर्मों का मूल्य नहीं होता। प्रकाश का काम बोलता है। लोगों का भरोसा ही मेरी ताकत है उनकी उम्मीदों से आगे बढ़ने का हौसला मिलता है।

मैं अपने कार्यकर्ताओं के बूते पूरी भाजपा से लड़ रहा
प्रकाश ने आगे कहा कि वह पूरी भाजपा और केंद्र सरकार से अपने कार्यकर्ताओं और लोगों के भरोसे के साथ लड़ रहे हैं। भगोड़े के लिए भाजपा ने अपना सब कुछ झोंक दिया है। उनके बड़े-बड़े नेता आते हैं और तथाकथित केंद्र की उपलब्धियों का गुणगान कर स्थानीय लोगों को बरगलाने का काम करते हैं। जनता जानती है कौन उनका अपना है कौन पराया। उन्हें बड़ा आदमी बनाने की बाद कही गई है जिसे लोग भी जानते हैं कि बड़ा आदमी कितना दुर्लभ होता है जबकि आपका प्रकाश सदैव सुलभ है। मेरे लोग ही आगे मेरा मार्ग प्रकाशित करेंगे।

एक महीना घूमकर साहेब ने पाला हीरो बनने का भ्रम
बीते 1 महीने से भगोड़ा घूम-घूमकर, फोटो खिचाऊं टीम को साथ रखकर हर पल को सोशल मीडिया में डालकर सोच रहा है कि वह हीरो बन गया और मतदाता उसे वोट देंगे जबकि उनके ही भाजपाई उनकी इस करतूत से शर्मिंदा है। उन्हें कोई समझा नहीं सकता क्योंकि वह तो साहेब हैं। साहेब से डरकर कोई कुछ नहीं कर सकता। आप अंदाजा लगा सकते हैं जब चुनाव पूर्व साहेब से उनके ही कार्यकर्ता डरे हैं तो बाद में क्या स्थिति होगी।

स्वस्थ राजनीति से गए डर
प्रकाश नायक ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह स्वस्थ राजनीति से डर गई है। राजनीति में शुचिता और निजता का सम्मान किया जाता है पर जब मेरे खिलाफ उन्हें कुछ कहने को नहीं मिला तो मेरी छवि को बदनाम करने की साजिश की जा रही है। मेरी पत्नी और भाई के धुंधाधार प्रचार से भी उन्हें कोफ्त होने लगी है। इतना पढ़े लिखे होने का क्या फायदा जब किसी का अनायास ही मान-मर्दन कर उससे फायदा लेने का सोचें। इससे तुच्छ और हीन मानसिकता की राजनीति मैंने आजतक नहीं देखी है।

More articles

Latest News