4.5 C
Munich

भाजपा विधि प्रकोष्ठ के सदस्यों ने सीएम विष्णुदेव साय से की मुलाकात

Must read


एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने सीएम को सौंपा ज्ञापन
रायगढ़। गुरुवार को स्थानीय सर्किट हाउस में भाजपा विधि प्रकोष्ठ के सदस्यों ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय से मुलाकात किया।जहां उन्होंने एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने सहित अन्य माँग को लेकर ज्ञापन दिया है।
अधिवक्ता संघ द्वारा लंबे समय से एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने की मांग कर रहे है।पूर्व में भी भाजपा विधि प्रकोष्ठ द्वारा इस संबंध में शासन को ज्ञापन देकर अवगत कराया था,लेकिन उनकी मांग पूरा नही हुआ।ऐसे में बीजेपी की सरकार बनने से एक बार फिर से उम्मीद जग गई है।इसी तारतम्य में प्रदेश के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय का जिले में दो प्रवास में बुधवार को रायगढ़ आए थे।जहां गुरुवार को स्थानीय सर्किट हाउस में आम लोगो से भेंट मुलाकात किया। इसीक्रम में भाजपा विधि प्रकोष्ठ के प्रदेश कार्य समिति सदस्य महेंद्र सिंह यादव अधिवक्ता एवम सयोजक सुनील थवाईत सहित अन्य सदस्यों ने सीएम से मुलाक़ात किया।जहां उन्होंने एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने सहित अन्य मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। इस दौरान सीएम नामदेव, प्रदीप राठौर ,मुकेश साहू अधिवक्ता विधि प्रकोष्ठ सदस्य शामिल थे। विधि प्रकोष्ठ द्वारा

  1. जिलाअधिवक्ता संघ रायगढ़ के अधिवक्ताओं के विरुद्ध की गई झूठी फिर राजस्व न्यायालय के अधिकारियों और कर्मचारियों के द्वारा कराया गया जिसको शीघ्र वापस लिया जाए एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट को लागू किया जाए।
    2.एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट को लागू किया जावे एवं वर्तमान में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा नोटरी नियुक्ति हेतु विज्ञापन जारी कर रायगढ़ जिले से संबंधित रायगढ़ घरघोड़ा, लैलूंगा खरसिया, तमनार, खरसिया सारंगढ़, न्यायालय से अधिवक्ताओं का फॉर्म जिला न्यायाधीश रायगढ़ के माध्यम से जमा किया जा चुका है जिस पर शीघ्र कार्रवाई किया जाना उचित होगा । जिससे नोटरी अधिवक्ताओं के माध्यम से आम जनता को भी सुविधा प्राप्त होगी
    3, एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू होने तक किसी भी अधिवक्ता के विरुद्ध प्रथम सूचना दर्ज करने के पूर्व अधिवक्ता संघ की सहमति लिया जाना अनिवार्य किया जाए
    4.सभी राजस्व अधिकारियों कर्मचारियों पटवारी के ऑफिस/ चेंबर में सीसीटीवी कैमरा लगाया जाए जिस की मॉनीटरिंग कलेक्टर रायगढ़ द्वारा करते हुए 24 घंटा सार्वजनिक किया जाए।

More articles

Latest News